होमTechnologyApple GPT: क्या Chat...

Apple GPT: क्या Chat GPT को टक्कर देगा एप्पल का नया AppleGPT ai चैट बोर्ड

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

नमस्कार दोस्तों Technicalpariwar.com पर आपका स्वागत है। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कुछ समय पहले ChatGPT को लांच किया गया था। जिसने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(AI) की दुनिया में एक नई क्रांति ला दी है। चैट जीपीटी के आने के बाद अब बड़ी-बड़ी कंपनियां अपना खुद का AI प्लेटफार्म तैयार करने की होड़ में लगी हुई है। इसी बीच मोबाइल बनाने वाली कंपनी Apple भी अपना खुद का AI Platform लांच करने की तैयारी में है। 

इस Upcoming प्लेटफार्म का नाम AppleGPT रखा गया है। जिसके बारे में कहा जा रहा है कि यह प्लेटफॉर्म Google Bard AI और ChatGPT को टक्कर देगा। तो Apple GPT Kya Hai, AppleGPT के फीचर्स इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए लेख को आखिर तक जरूर पढ़े। 

Apple chat bot
Apple gpt ai chat bot

क्या है Apple GPT में खास?

ब्लूबर्ग की एक लेटेस्ट रिपोर्ट के अनुसार Google Bard AI और ChatBOT को टक्कर देने के लिए एप्पल कंपनी अपना खुद का एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(AI) प्लेटफॉर्म तैयार कर रही है। इस प्लेटफार्म का नाम Apple GPT रखा गया है। Apple GPT की मदद से किसी भी टेक्स्ट को आसानी से समराइज किया जा सकता है और डाटा के आधार पर किसी भी सवाल के जवाब दिए जा सकते हैं। Apple GPT की मदद से कंपनी कई और नए फीचर्स लांच कर सकती है। 

Apple GPT से जुडी Latest News – 

दोस्तों Apple GPT और Chat GPT दोनों ही Chatbot पर आधारित है ।एक रिपोर्ट के अनुसार एप्पल जीपीटी का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉडल को Ajax मॉडल नाम दिया गया है। Apple GPT का ChatBot भी Chat GPT की की तरह सवाल जवाब करने में सक्षम होगा। 

Apple GPT को बनाने के लिए क्लाउड सर्विस का इस्तेमाल किया जा रहा है और इस Apple GPT को बनाने के लिए गूगल भी साथ मिलकर के कार्य कर रहा है। हाल ही में गूगल ने Chat GPT को टक्कर देने के लिए अपना खुद का एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। जिसको ” AI Bard ” के नाम से जाना जा रहा है और गूगल ने इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(AI Bard) को 180 देशों में लॉन्च किया है। 

Apple GPT और Chat GPT में क्या अंतर होगा?

Apple GPT और Chat GPT दोनों ही AI प्लेटफार्म है। Apple GPT के Chatbot की मदद से Text को आसानी से Summarizing कर सकते है। और डाटा के आधार पर सामान्य सवालों के जवाब प्राप्त कर सकते हैं। Chat GPT एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म है। जिसको मशीन लर्निंग की मदद से ट्रेनिंग दी गई है। इसका इस्तेमाल करके कोई भी आसानी से किसी भी सवाल का जवाब तुरंत प्राप्त कर सकता है। 

Apple GPT के Chatbot की मदद से Apple के मैसेज को भी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। चैट जीपीटी की मदद से टेक्स्ट के जरिए आप सवाल-जवाब कर सकते है। Chat GPT में आप 3000 words की क्वेरी कर सकते है। 

Apple GPT का ChatBot मॉडल डाटा के आधार पर सवाल जवाब करता है और चैट जीपीटी को मशीन लर्निंग की मदद से कुछ सालों तक ट्रेनिंग दी गई है। जिसके आधार पर यह सवाल जवाब करता है। 

Apple GPT कब लांच होगा?

Applegpt ai bot release date in India: आप सभी को जानकारी के लिए बता दें एप्पल के इस Apple ChatBot को Rollout होने में अभी थोड़ा समय लग सकता है। एक रिपोर्ट के अनुसार अभी Apple GPT पर काम चल रहा है और एप्पल ने इस ChatBot मॉडल का कुछ कर्मचारियों को एक्सेस भी दे दिया है लेकिन किसी कारणवश अभी कंपनी इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉडल को लांच करने में असक्षम है लेकिन जल्दी ही इस मॉडल को अप्रूवल मिलते ही लांच कर दिया जाएगा।  एप्पल जीपीटी एआई चैट बोट यह है ग्लोबली रिलीज होगा जब भी रिलीज होगा उसी टाइम सबसे पहले रिलीज में ही आपको इंडिया में भी एप्पल जीपीटी लॉन्च की जाएगी।

Apple GPT और Chat GPT एक ही है?

Apple GPT और Chat GPT दोनों ही AI Platform है। दोनों ने ही सवाल जवाब करने की क्षमता है। यदि हम Apple GPT की बात करे तो यह ChatBot मॉडल डाटा के आधार पर सवाल जवाब करता है और चैट जीपीटी को मशीन लर्निंग की मदद से कुछ सालों तक ट्रेनिंग दी गई है। जिसके आधार पर यह सवाल जवाब करता है। 

Apple GPT क्या Google को टक्कर दे सकता है?

 Apple GPT बात करें तो यह एक मशीन लर्निंग प्लेटफॉर्म है। जिसमें डाटा के आधार पर सवाल जवाब किया जा सकता है। वही Google की बात करे तो उसमे आपको अनेको सुविधाएँ जैसे Google Drive, Google Maps, Google Docs मिलते है। Apple GPT जो कि प्राकृतिक भाषा के आधार पर कार्य करता है।

Explore topic:
WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Google News google News Follow

Related Post

AC हो रही है चलते चलते ही ब्लास्ट, आखिर क्या हैं इसका कारण और कैसे बचें?

गर्मी के मौसम में एयर कंडीशनर (AC) का इस्तेमाल बढ़ जाता है, लेकिन कुछ मामलों में AC चलते चलते ब्लास्ट हो जाता है, जो...

Portable AC: घर की दीवार को तोड़ना फोड़ना नहीं पड़ेगा, कूलर की तरह रखो इस एसी को

गर्मी के दिनों में घर को ठंडा रखना एक चुनौतीपूर्ण काम हो सकता है, खासकर जब आपके पास स्थायी एयर कंडीशनर लगाने की सुविधा...

AC का तापमान 16°C से कम क्यों नहीं होता और अगर हो जाए तो क्या होगा?

AC का तापमान 16°C से कम क्यों नहीं होता? इस पोस्ट में जानें इसके तकनीकी, स्वास्थ्य और ऊर्जा खपत से जुड़े कारण, और अगर तापमान 16°C से कम हो जाए तो क्या परिणाम हो सकते हैं। अपने AC का सही और सुरक्षित उपयोग करने के लिए महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करें।

1 Ton Solar AC: पूरे दिन चलेगी AC बिना बिजली ये है सोलर AC

गर्मियों में बिजली की बचत और पर्यावरण संरक्षण के लिए 1 Ton Solar AC का चुनाव करें। जानें Solar AC के फायदे, काम करने का तरीका, सही चुनाव के टिप्स और इसके सेटअप की पूरी जानकारी। अपने घर को बनाएँ सस्टेनेबल और ऊर्जा प्रभावी।

special links

क्या आप भारतीय हैं?