होमInternetएमपिन(MPIN)क्या होता है :...

एमपिन(MPIN)क्या होता है : 4 Digit MPIN Kaise Banaye

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

आज के इस डिजिटल युग में हम सभी अपने सभी कार्य मोबाइल से कुछ मिनटों में ही पूरा कर सकते हैं। फिर चाहे पैसों की लेनदेन हो या फिर ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन बुकिंग जैसे सभी महत्वपूर्ण कार्य मोबाइल से तुरंत पूरा कर लेते हैं। ऐसा सिर्फ मोबाइल बैंकिंग से ही संभव हो पाया है और मोबाइल बैंकिंग से कोई भी ट्रांजैक्शन करने के लिए MPIN की आवश्यकता होती है। MPIN मोबाइल बैंकिंग का एक ऐसा कोड होता है जो उपभोक्ता की हर एक लेनदेन को सुरक्षित बनाता है। 

यदि हम कुछ साल पहले की बात करें तो किसी भी व्यक्ति को पैसे भेजने के लिए बैंक की डिटेल, IFSC कोड इत्यादि की आवश्यकता पड़ती थी। लेकिन अब आप सिर्फ MPIN की मदद से ही आसानी से भुगतान कर सकते हैं। परंतु उसके लिए आपको पता होना चाहिए कि MPIN Kya Hota Hai और 4 Digit का एमपिन कैसे बनाया जाता है? तो आज इस लेख में हम आपको MPIN से जुड़ी सभी जरूरी जानकारी देने वाले हैं तो इस लेख को आखिर तक जरूर पढ़ें। 

एमपिन(MPIN) की Full Form क्या होती है?

एमपिन(MPIN) की Full Form ” Mobile Banking Personal Identification Number ” होती है। हिंदी में एमपिन को व्यक्तिगत पहचान संख्या भी कहा जाता है। भारत सरकार के द्वारा संचालित यह एक ऐसा सुरक्षित कोड होता है। जिसका इस्तेमाल आप किसी भी लेनदेन को करते समय उपयोग में लेते हैं और यह आपकी हर एक ट्रांजैक्शन को पूरी तरह से सुरक्षित बनाता है। यह कोड एटीएम की तरह ही 4 अंकों का होता है और कुछ बैंक में यह 6 अंकों का होता है। 

एमपिन(MPIN)क्या होता है?(MPIN Kya Hota Hai)

MPIN Kya Hai | जब भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने के बात आती है तो मोबाइल बैंकिंग की मदद से ही आप ट्रांजैक्शन को पूरा कर सकते हैं। मोबाइल बैंकिंग यानी व्यक्तिगत पहचान संख्या जिसको MPIN भी बोला जाता है। इसकी मदद से किसी भी प्रकार की ट्रांजैक्शन को सुरक्षित तरीके से पूरा किया जा सकता है। 

MPIN एटीएम कोड की तरह ही 4 अंकों का होता है। जिसका इस्तेमाल आप पैसों की लेनदेन करते समय करते हैं। कुछ बैंकों में यह 6 अंकों का होता है। जिससे आप बैलेंस चेक, पैसे ट्रांसफर और अन्य कई प्रकार की मोबाइल बैंकिंग सेवाओं का इस्तेमाल करते समय कर सकते हैं। एमपीन को आप तभी एक्टिवेट कर सकते हैं जब आपके बैंक खाते से मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होता है। 

मोबाइल बैंकिंग में MPIN की जरूरत – 

जैसा कि ऊपर इस लेख में हमने आपको बताया है कि MPIN की आवश्यकता किसी भी प्रकार की लेनदेन को सुरक्षित करने के लिए किया जाता है। भारत सरकार ले मोबाइल बैंकिंग को two way authentication बनाने के लिए एमपिन को जारी किया गया था। जिस तरह से ग्राहक अपने बैंक खाते से पैसे निकालने के लिए एटीएम कार्ड और पिन कोड का इस्तेमाल करता है। ठीक उसी तरह से मोबाइल बैंकिंग की मदद से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने के लिए एमपिन की आवश्यकता पड़ती है। 

किसी भी प्रकार की ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने के लिए आपको सबसे पहले अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से वेरिफिकेशन किया जाता है और उसके बाद कस्टमर को MPIN भेजा जाता है। जिसके माध्यम से वह अपनी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को सुरक्षित कर सकता है। 

मोबाइल बैंकिंग में MPIN का इस्तेमाल किन Transaction में किया जाता है?

  • UPI Apps 
  • USSD Banking 
  • IMPS 
  • Mobile Banking 
  • IVR Banking 

4 Digit MPIN Kaise Banaye | एमपिन कहा से ले?

जब भी आप मोबाइल बैंकिंग से किसी भी प्रकार की ट्रांजैक्शन करते हैं तो आपके पास एमपिन होना जरूरी है और जब आप अपना किसी भी बैंक में खाता ओपन करते हैं तो उसमें आपको मोबाइल बैंकिंग का विकल्पों मिलता है। जिसमें आपको पूरा किट दिया जाता है और उसमे आपको मोबाइल बैंकिंग, यूजर आईडी और एमपिन भी दिया जाता है लेकिन यदि आपको जानकारी नहीं है कि अपने खाते में MPIN को कैसे एक्टिवेट करें या फिर आप पुराने खाताधारक है तो नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके आप अपने बैंक खाते में MPIN को एक्टिवेट कर सकते हैं। 

ATM से MPIN Kaise Banaye 

अपने मोबाइल में मोबाइल बैंकिंग को एक्टिवेट करने के लिए आपके पास एटीएम कार्ड होना चाहिए। एटीएम कार्ड की मदद से आप आसानी से एमपिन को एक्टिवेट कर सकते हैं। एटीएम कार्ड की मदद से एमपिन को एक्टिवेट करने के लिए आपको बैंक जाने की कोई आवश्यकता नहीं है। एमपिन को एक्टिवेट करने के लिए एटीएम में जाकर सबसे पहले मोबाइल बैंकिंग के विकल्प को चुने और उसके बाद मोबाइल बैंकिंग में आपको मोबाइल बैंकिंग रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन मिलता है। जिस पर जाकर के आप आसानी से 4 डिजिट या फिर 6 डिजिट का एमपिन जनरेट कर सकते हैं। 

Online MPIN Kaise Banaye 

Online MPIN जनरेट करने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी यूपीआई एप्लीकेशन को अपने मोबाइल में इंस्टॉल करना होगा। इंस्टॉल करने के बाद में आपको अपनी एटीएम कार्ड की पूरी डिटेल सबमिट करनी होगी। उसके बाद आपके पास वेरिफिकेशन के लिए ओटीपी कोड भेजा जाता है। वेरिफिकेशन प्रक्रिया पूरी करने के बाद आखिर में आप अपना 4 डिजिट या 6 डिजिट का एमपिन जनरेट कर सकते हैं और किसी भी प्रकार की ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को पूरा कर सकते हैं। 

आखिर में(Conclusion)- 

आज हमने जाना है ” एमपिन(MPIN)क्या होता है, 4 Digit MPIN Kaise Banaye  ” उम्मीद करते हैं कि इस लेख की जानकारी आप सभी को जरूर पसंद आई होगी और यदि आपने अभी तक अपना एमपिन जनरेट नहीं किया है तो इस लेख में बताए गए तरीकों का इस्तेमाल करके आप आसानी से एमपीन जनरेट कर सकते हैं। अगर आपके मन में इस लेख से रिलेटेड कोई भी सवाल है तो हमको कमेंट करके जरूर बताइए, धन्यवाद। 

FAQs – 

1)- एमपिन(MPIN) की Full Form क्या होती है?

एमपिन(MPIN) की Full Form ” Mobile Banking Personal Identification Number ” होती है।

2)- क्या हम एमपिन(MPIN) Code को बदल सकते है?

आप किसी भी UPI Apps में आसानी से अपना एमपिन(MPIN) बदल सकते है। 

3)- एमपिन(MPIN) को हिंदी में क्या कहा जाता है?

हिंदी में एमपिन को ” व्यक्तिगत पहचान संख्या ” बोला जाता है।

Show quoted text

Explore topic:
HS Rox
HS Roxhttps://technicalpariwar.com/
दोस्तों मैंने राजस्थान यूनिवर्सिटी से Bachelor of Computer Application पढ़ाई की है। मैं फुल टाइम ब्लॉगर और यूट्यूबर हूं मुझे मोबाइल सॉफ्टवेयर से संबंधित अधिक जाना पसंद होता है, इसीलिए मैं मेरी नॉलेज को बढ़ाने के लिए टेक्निकल ट्रिक और टिप्स आपके लिए लेकर आता रहता हूं। Thankyou 🙏
WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Google News google News Follow

Related Post

Call Recording Recovery: गलती से delete हुई call recording को वापस कैसे लाए | Recording earn hari

नमस्कार दोस्तो technical pariwar में आपका स्वागत है। आज के digital Era में, मोबाइल फोन हमारी रोजमर्रा की ज़िंदगी का एक अहम हिस्सा बन...

मोबाइल से गाड़ी के नंबर से मालिक का पता कैसे लगाएं? mobile se kisi bhi gadi ki jankari kaise nikale?

कभी-कभी हमें रास्ते में खड़ी किसी गाड़ी के बारे में जानने की उत्सुकता होती है। मान लीजिए, आपके घर के बाहर कोई कार या...

Blue Aadhar: ब्लू आधार कैसे बनवाएं और फायदे? Blue Aadhar apply online

भारत में, आधार कार्ड एक बहुत ही important identity document है जो लोगों की personal identification को साबित करता है। UIDAI (Unique Identification Authority...

Jio सिम पर फ्री unlimited 5G Net कैसे मिलेगा – jio true 5G

नमस्कार दोस्तों टेक्निकल परिवार में आपका स्वागत है दोस्तों क्या आपके पास जियो का सिम है तो आप बहुत लक्की है, क्योंकि आपको जिओ...

special links

क्या आप भारतीय हैं?