स्टॉक ब्रोकर (stock broker) क्या होता हैं? kaise bane in hindi

 शेयर मार्केट , स्टॉक ब्रोकर , स्टॉक एक्सचेंज , सेंसेक्स , निफ़्टी इत्यादि ये सारे नाम आपने जरूर सुना होगा कम टाइम में इन्वेस्टमेंट के द्वारा अच्छी कमाई की चाहत रखने लोग अक्सर स्टॉक एक्सचेंज में निवेश करते हैं जिसे हम लोग आम भाषा में शेयर मार्केट कहते हैं। इन्वेस्टर और शेयर मार्केट इन दोनों के बीच जो काम करता है उसे हम स्टॉक ब्रोकर कहते हैं।

आज की इस पोस्ट में हम इसी के बारे में आपको शुरू से लेकर अंत तक सारी जानकारी देने वाले हैं यह जानकारी जानने के लिए इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें।

Stock broker क्या है 

स्टॉक ब्रोकर वह है जो investment karne wala और शेयर मार्केट दोनों के बीच काम करता है बिना stock broker के कोई भी इन्वेस्टर या निवेशक अपना ट्रेड शेयर मार्केट में नहीं डाल सकता है

इसलिए दोस्तों यदि आप स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आपको डिमैट अकाउंट और एक ट्रेडिंग अकाउंट खोलना होता है और यह दोनों अकाउंट स्टॉक ब्रोकर द्वारा ही खोला जाता है

किसी भी इन्वेस्टर की  buy या sell का आर्डर ब्रोकर ही स्टॉक एक्सचेंज के पास पहुंचाया जाता है

देखा जाए तो शेयर बाजार में दो तरह के स्टॉक ब्रोकर काम करते हैं पहले ब्रोकर को हम full service stock broker कहते हैं दूसरे ब्रोकर को हम discount stock broker तो आइए हम इन दोनों प्रकार के बारे में डिटेल से जानकारी देते हैं कि इनका क्या-क्या काम होता है।

full service stock broker क्या है?

यह स्टॉक ब्रोकर को सबसे बढ़िया ब्रोकर माना जाता है क्योंकि यह ब्रोकर अपने क्लाइंट को तरह-तरह की सुविधाएं प्रदान करते हैं जैसे शेयर कब खरीदे , शेयर कब बेचें मोबाइल , फोन पर ट्रेडिंग करने की सुविधा , आईपीओ में इन्वेस्ट की सुविधा इसके अलावा वह फूल टाइम कस्टमर सर्विस की सुविधा भी प्रदान करते हैं। इसके मद्देनजर देखा जाए तो इन स्टॉक ब्रोकर की फीस भी ज्यादा होती है क्योंकि यह फुल टाइम सर्विस प्रदान करते हैं।

आइए हम आपको कुछ पॉपुलर फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर के बारे में बताते हैं

  • ICIC Direct
  • HFL
  • HDFC securities
  • Sharekhan
  • MOTILAL OSWAL

discount stock broker क्या है?

यह स्टॉक ब्रोकर अपने क्लाइंट से कम फीस में स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने की सुविधा प्रदान कर देते हैं क्योंकि यह अपने क्लाइंट को स्टॉक एडवाइजरी और रिसर्च फैसिलिटी इत्यादि जैसी सुविधाएं प्रदान नहीं करते फुल स्टॉक ब्रोकर की तरह इनका ज्यादा से ज्यादा काम ऑनलाइन ही होता है

आइए हम कुछ पॉपुलर डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर के बारे में आपको बताते हैं

  • ZERODHA
  • MASTER CAPITAL SERVICES LTD
  • SOUTH ASIAN STOCK LTD

Stock broker कैसे बने?

दोस्तों यदि आप भी एक स्टॉक ब्रोकर बनना चाहते हैं तो आपको फाइनेंशियल मार्केट का बहुत ही अच्छा ज्ञान होना आवश्यक है इसके साथ-साथ आपके पास स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए तरह-तरह के परमिशन लेने पड़ते हैं तब जाकर आप एक स्टॉक ब्रोकर के रूप में लोगो को ट्रेडिंग करने की सुविधा प्रदान कर सकते हैं तथा अपनी कमाई कर सकते हैं।

वैसे देखा जाये तो स्टॉक ब्रोकर बनना आसान काम नहीं है इसके लिए आपको नॉलेज के साथ-साथ आपको तरह-तरह की चीजें होना आवश्यक है।

आईये हम आपको डिटेल में जानकारी देते है कि आप एक स्टॉक ब्रोकर किस प्रकार बन सकते हैं।

#1. स्टॉक ब्रोकर बनने वाले इच्छुक व्यक्ति को सबसे पहले Capital Market ,  Stock broking और निवेश संबंधित और भी अन्य सुविधाओं के बारे में कोर्स करना पड़ता है। भारत के कुछ प्रशिक्षण संस्थान में यह कोर्स कराए जाते हैं।

#2. जब यह कोर्स पूरा कर लेते हैं तो आपको किसी स्टॉक ब्रोकिंग कंपनी के साथ जुड़कर कम से कम 2 साल तक इस मार्केट का अनुभव लेना पड़ता है।

इसके बाद आपको स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए सेबी के पास रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है , NSE और BSE का मेंबरशिप लेना पड़ता है , डिपॉजिटरी की मेंबरशिप लेना पड़ता है और भी बहुत सारे काम होते हैं तो आइए इनके बारे में हम आपको डिटेल में बताते हैं

SEBI के साथ रजिस्ट्रेशन करें

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आपको सर्वप्रथम SEBI के साथ रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है जब आप SEBI पर रजिस्ट्रेशन करते हैं तो SEBI आपके बारे में पूरा रिसर्च करती है कि आपके पास ऑफिस है या नहीं और यह बिजनेस चलाने के लिए आपके पास जरूरी कागजात है या नहीं जब यह रजिस्ट्रेशन आपका पूरा हो जाता है तो आपको SEBI के द्वारा एक सर्टिफिकेट मिल जाता है।

NSE और BSE का मेंबरशिप लें

SEBI के द्वारा सर्टिफिकेट सर्टिफिकेट लेने के बाद अब बारी आती है आपको NSE और BSE का मेंबरशिप लेने आप मेंबरशिप फीस को देकर इनकी मेंबरशिप ले सकते हैं इसके साथ NSE और BSE के द्वारा सिक्योरिटी डिपॉजिट कराया जाता है तब जाकर आपको इनकी मेंबरशिप मिल जाती है।

इनकी मेंबरशिप लेने के लिए आपकी उम्र 21 वर्ष से ऊपर तक होनी चाहिए तथा आपके पास किसी स्टॉक एक्सचेंज के साथ काम करने का 2 साल का एक्सपीरियंस होना चाहिए।

Depository Membership लें

इसके साथ-साथ दोस्तों आपको डिपॉजिटरी का मेंबरशिप लेना पड़ता है इसका मेंबरशिप लेने के लिए आपको मेंबरशिप फीस तथा सिक्योरिटी फीस देनी होती है तब जाकर आपको डिपॉजिटरी मेंबरशिप मिलती ह

एक अच्छा ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर तथा मोबाइल ऐप बनवाएं

दोस्तों जब आप एक स्टॉकब्रोकर बन जाते हैं तो आपको एक अच्छा ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर तथा मोबाइल ऐप भी बनानी पड़ती है ताकि कस्टमर आपके तरफ अट्रैक्टिव हो तथा आपके सॉफ्टवेयर का मोबाइल है पर आकर ट्रेडिंग करें ताकि आपको फायदा हो इसके अलावा आपको इसकी एडवरटाइजिंग भी करनी होती है ताकि आपके सॉफ्टवेयर तथा मोबाइल ऐप को लोग जानें।

यह पूरा पोस्ट पढ़ने के बाद आप जानते होंगे दोस्तों के स्टॉक ब्रोकर बनने के काफी रजिस्ट्रेशन और बहुत सारे पैसे की आवश्यकता होती हैं

मैं आपको बता दो दोस्तों यदि आप एक स्टॉक ब्रोकर बनना चाहते हैं तो आपके पास कम से कम 4, 5 करोड़ रूपया होना चाहिए तब जाकर आप एक स्टॉक ब्रोकर बन सकते हैं

स्टॉक ब्रोकर बनने के बाद कमाई

स्टॉक ब्रोकर की कमाई कोई फिक्स कमाई नहीं होती है जितने कस्टमर आप से जुड़ेंगे आपको उतना ही फायदा होता है आपकी पूरी कमाई कस्टमर के ऊपर ही निर्भर करता है क्योंकि कस्टमर की ट्रेडिंग का जो tex लेते हैं वही आपकी कमाई होती हैं।

आशा करता हूं दोस्तों कि हमारे द्वारा लिखी हुई या पोस्ट आपको पसंद आई होगी तथा आपको इसके बारे में शुरू से लेकर अंत तक जानकारी मिली होगी यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करें तथा इसके संबंधित आपके पास कोई राय हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.